Section 21 Hindu Marriage Act - Application of Act 5 of 1908

Hindu Marriage Act(HMA) Section 21

Description of Hindu Marriage Act(HMA) Section 21

Subject to the other provisions contained in this Act and to such rules as the High Court may make in this behalf, all proceedings under this Act shall be regulated, as far as may be, by the Code of Civil Procedure, 1908.

हिन्दू विवाह अधिनियम की धारा 21 क्या है

1908 के अधिनियम संख्यांक 5 का लागू होना
विवरण

इस अधिनियम में अन्तर्विष्ट अन्य उपबन्धों के और उन नियमों के जो उच्च न्यायालय इस निमित्त बनाए, अध्यधीन यह है कि इस अधिनियम के अधीन सब कार्यवाहियाँ जहाँ तक हो सकेगा सिविल प्रकिया संहिता, 1908 (1908 का 5) द्वारा विनियमित होगी।

Prev Next